Monday, July 13, 2020 - 14:41

मध्यप्रदेश मनावर / धार जिले के सोंडुल में 11 मार्च 2018 को आयोजित आदिवासी जयस महापंचायत के द्वारा पांचवीं, छटी अनुसूची तथा धार जिले के 32 आदिवासी बहुल गांवों की जमीन अल्ट्राटेक सीमेंट फैक्टरी को सरकार द्वारा अधिग्रहण कर दिये जाने पर , सरकार को चेतावनी दी गई।
संघटनों का कहना है 32 गावों के आदिवासियों के विस्तापन में फर्जी ग्रामसभाओं की साईन तथा समाज के ही धोकेबाज विधायक, सांसदो की मिलीभगत से यह काम हुआ।
विभिन्न राज्यों से आये वक्ताओं ने सरकार आडे हाथ घरा। आदिवासी नेता सतीश पेंदाम ने कहा आदिवासी पहले गड्ढे खोदने का काम करता था, अब मशीन गड्ढा खोदने लगी है। ऐसे में आदिवासी कहां जायेगा। एक ओर सरकार आदिवासियों की जमीन हडपने की कोशिश कर रही है, तो दूसरी ओर यह जमीन उधोगपतियों को दे रही है। हमारी जमीन वापस नहीं दी,तो चुनाव में सबक सिखा देंगे। इस देश में जिन्होंने उंगलियां भी नहीं कटाई, उन्हें शहरों का दर्जा दिया जा रहा है। टंट्या मामा को शहीद का दर्जा नहीं मिला। सफेद पोश नेता आदिवासियों की पांचवीं, छटी अनुसूची पर बात नहीं करते हैं। आदिवासी अब जल, जंगल व जमीन की बात करते हैं, तो इसे प्रकृति की धरोहर कहकर टाल दिया जाता है। जबकि जल, जंगल व जमीन पर सबसे पहला हक आदिवासी का है। जब भारत में अलग अलग समाजों के पर्सनल लॉ बने है, तो आदिवासियों के लिए क्यों नहीं ?
तथा जयस (जय आदिवासी युवा शक्ति) के राष्ट्रीय संरक्षक डा. हीरालाल अलावा ने सीमेंट फैक्टरी के बारे में बोलते हुए कहा कि इसके शुरू होने से क्षेत्र के 75 प्रतिशत आदिवासी बेरोजगार हो जाएंगे। इसकी लडाई हम कानूनी तरीके से लडेंगे। क्षेत्र के विधायक व सांसद आदिवासी समाज के बजाय उधोगपति के साथ खडे हैं । यदि आने वाले चुनाव के पूर्व 32 गाँव के आदिवासियों की जमीन उन्हें वापस नहीं की गई, तो हम इस चुनाव में सरकार को सबक सिखा देंगे। हमारी जमीन हम लेकर ही रहेंगे। हम चुनाव नहीं लडेंगे, लेकिन जो आदिवासी कि हक की बात करेगा, उसका साथ देंगे। साथ ही आदिवासी समाज को अपने हक की लडाई लडने के लिए संकल्प दिलाया।
कार्यक्रम को पूर्व विधायक पारस सकलेचा रतलाम, महेश वसावा गुजरात, बी.के. मनीष नई दिल्ली, नरसिंह राव तेलंगाना, हरनाम सिंह मरावी बालाघाट, श्याम कुमारी धुर्वे सिवनी, पुष्पा जमरा, डा.अशोक वसकोले जबलपुर, ध्रुव चौहान खिरकिया, राकेश कुमार देवडे बागली, पुरुषोत्तम कलम (लोक संवेदना दस्तक - प्रतिनिधि) हरदा आदि ने अतिथियों का स्वागत किया।
स्वागत भाषण जयस प्रभारी लालसिंह बर्मन ने दिया। संचालन रेखा वास्केल व अरविंद मुजाल्दा ने किया। आभार मदनसिंह वास्केल ने माना।
प्रशासन व्यवस्था में 6 एडमिशन एसपी, 10 डीएसपी सहित करीब 800-900 पुलिस जवानों को तैनात किया गया था। क्षेत्र सहित अलिराजपुर, कुक्षी, बडवानी, धार, इंदौर, देवास तथा अन्य क्षेत्रों से हजारों लोग इस महापंचायत मे जुटे। सभा स्थल पर पानी, एम्बुलेंस आदि की व्यवस्था की गई थी।

शेयर करे

Related Comments

MM
Mohan muvel (not verified) Thu, 03/15/2018 - 09:01

मेरे पास कोई जमीन नही में बच्चपन से लोगो की ठोकरे खाया बहुत कष्ट उठाया पर सरकार से कोई फायदा नही मिला न ग्राम पंचायत से आजतक कोई गरीबी रेखा का राशनकार्ड मिला है उसपे भी कोई राशन नही मिलता अब मेहनत करके जैसेतैसे सरकारी जमीन पर छोटा सा मकान बनाया और यूपी बिहार वालो को गरबी का राशनकार्ड दिया जा रहा ऐसी पार्टीयो को वोट देने से कोई फायदा नही

Add a Comment