Wednesday, October 28, 2020 - 08:46

BY-REPORT GONDWANA CHHATTISGARH NEWS
कोरिया 8 मई, (गोंडवाना छत्तीसगढ न्यूज) जानकारी के मुताबिक बीते मार्च माह में कोरिया जिले के खड़गवां थाना क्षेत्रान्तर्गत ग्राम फुन्गा के बहुचर्चित एक आदिवासी नाबालिका युवती की अपहरण से जुड़ी मामला ग्रामीणों में सनसनी फैला दी थी। इस सम्बंध में स्थानीय पुलिस खड़गवां तत्परता के साथ उक्त नाबालिक लड़की को सुराग के आधार पर बीते 19 मार्च को महाराष्ट्र के नासिक पहूंच चुकी थी। जहाँ आरोपी ने अपहरित युवती को ले जाकर रखा था। महज पुलिस साबूत इक्कठा कर ले आई। हालाकि भनक लगते ही आरोपी पुलिस के पहुचने के पहले ही लड़की को ट्रेन से वापस मरवाही ले आने की बात कही गई। गौरतलब 21 मार्च को नाबालिक पीड़िता सोनवति पिता मंगलसिंह गोंड (15 वर्षिया) किसी प्रकार आरोपी लाला उर्फ केशवराम के चंगुल से निकल करअपने घर पहुंची। वहीं 22मार्च को अपने परिजनों के माध्यम से घटित घटना की रिपोर्ट सम्बंधित थाना खड़गवा में जाकर दर्ज करवा दी। वहीं नाबालिक युवती 23 मार्च को पीड़िता मनेंद्रगढ़ न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने भी पेश होकर घटना की कलमबंद ब्यान दे दी। आम तौर पर सारे देश में लॉक डाऊन की स्थिति में आरोपी को दुसरे जिले में जाकर लाना एक चुनौती था। फ़िलहाल 6मार्च को लॉकडाऊन में मिली कुछ छुट के दौरान स्थानीय पुलिस आरोपी के गॉव पेड्रा मरवाही के कुम्हारी से गिरफ्तार कर लिया गया। और दुसरे दिन आरोपी लाला उर्फ केशवराम धनवार 30 वर्षीय एवं उसके सहयोगी महिला रेखा उर्फ चन्द्रवति 27 वर्षिया जो अपहरण की रात पीड़िता को उसके घर से रात में निकाल कर अपने घर तक लाई थी ।और अपने घर में दूसरी कपड़ा पहनने के लिए दी थी।और उसी रात आरोपी पीड़िता को लेकर रातों रात अपने गॉव लेकर गया था।और वहां से महाराष्ट्र नासिक ले गया था। जानकारी के मुताबिक जहाँ छेड़छाड़ करने की कोशिश किया था। उक्त आधार पर 7मार्च को स्थानीय पुलिस दोनो आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 363,366,370,354,506-34 एवं पास्को एक्ट 8 के गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

शेयर करे

Add a Comment