Thursday, June 4, 2020 - 03:18

पुंजापूरा(म.प्र.) 24/12/2017
आदिवासी कर्मचारी अधिकारी संगठन (आकास) की संगोष्ठी का कृषि उपज मंडी प्रांगण पुंजापूरा में रविवार को आयोजित किया गया। आकास का गठन 24 अप्रेल 2016 को हुआ तथा सामाजिक उद्देश्यों के साथ मध्यप्रदेश में अपना कारवां बढ़ाने के लिये एक नारे के साथ शुरूआत की
‘‘एक कदम गांव की ओर’’
आकास के सामाज हीतैषी उद्देश्य -
1) आदिवासी समाज के कर्मचारी / अधिकारीयों के सामाजिक, सांस्कृतिक, आर्थिक, स्वास्थ्य, शैक्षणिक एवं संवैधानिक हितों की रक्षा एवं सहायता करना।
2) शासन द्वारा चलायी जा रही योजनाओं का समाज के लोगों को जानकारी देना एवं लाभान्वित करने में सहयोग करना।
3) आदिवासी समाज के सर्वांगीण विकास हेतु आवश्यक कदम उठाना।
4) पर्यावरण व प्राकृतिक संशाधनों का संरक्षण एवं संर्वधन में सहयोग प्रदान करना।
5) उपरोक्त उद्देश्यों की प्राप्ति हेतु समितियों-उपसमितियों का गठन व क्रियान्वयन करना।
आदिवासी कर्मचारी अधिकारी संगठन (आकास) की जिला इकाई का गठन करने के लियेे, प्रदेश स्तरीय आकास के कार्यकर्ताओं में मुख्य रूप से-
डी.एस.डोडवे जी (उपाध्यक्ष), अमरसिंह मोरे जी (महासचिव), मदनसिंह वास्केल जी (सचिव), मांगीलाल ईकवाले जी (कोषाध्यक्ष), विक्रमसिंह पर्ते जी उपस्थित रहे। और प्रदेश स्तरीय कार्यकर्ताओं द्वारा देवास आदिवासी अधिकारी कर्मचारी संगठन का गठन किया गया। जिसमें देवास आकास के नामोनित किये गये पदाधिकारी है-
लक्ष्य सोलंकी - अध्यक्ष
रूगनाथ तंवर - कार्यकारी अध्यक्ष
-:उपाध्यक्षः-
खुमानसिंह सोलंकी, अर्जूनसिंह कर्मा
-:महा सचिवः-
श्रवण काजले, गोविन्द आस्के, प्रेमसिंह पंवार, नर्मदाप्रसाद उईके,
गोपाल भोसल।
-:सचिवः-
श्रीमती लक्ष्मी बछाानिया, ओमप्रकाश कर्मा, सीताराम सोलंकी, रमेशचन्द्र गेहलोद, श्रीमती रानु डावर, राकेश देवडे, भीमसिंह सोलंकी, प्यारसिंह सोलंकी, जामसिंह कन्नौज, पप्पूसिंह अचाले।
सीताराम आस्के (कोषाध्यक्ष)
प्रभु मुजाल्दे (सह कोषाध्यक्ष)
-:मीडिया प्रभारीः-
हीतेन्द्र कछवाये, रतनसिंह जामले
-:सदस्यः-
नारायणसिंह कछवाह, भगतसिंह राठौर, प्रताप अलावा, बंशी डावर, आनन्दसिंह कर्पे, श्रीमती मंजू वास्केल, पुनमचन्द्र देवडा, चैनसिंह मोर्य, ऊॅंकारसिंह चैहान, मोहन रावत ।
कार्यक्रम में मंच के माध्यम से श्रीमति रानु बेरसिंह डावर दीदी ने समाज के हर संगठनों को महिला शक्ति को समाज के कार्यक्रमों मे सहभागीता प्रदान करने की बात तथा महिला शक्ति को ज्यादा से ज्यादा अपने सामाजिक कार्यक्रमों में लाने की बात रखी। बेरसिंह डावर, प्रहलादसिंह कर्मा, पहाडसिंह कन्नौजे, अर्जूनसिंह कर्मा,खुमानसिंह सोलंकी, उमेंन्द्रसिंह अलावा, भार्गव जी, रमेशचन्द्र सोलंकी, रंजितसिंह भिलाला, राकेश देवडे आदि ने भी अपने-अपने सामाजिक विचार साझा किये।
आदिवासी अधिकारी कर्मचारीयों के साथ जिले से आये सामाजिक कार्यकर्ता रणजितसिंह भिलाला, उमेन्द्रसिंह अलावा, नन्दुसिंह रावत, अम्बाराम बछानिया, विन्द्रावन्द भोसले, रायसिंह बछानिया, मोहन जामले, लोक संवेदना दस्तक(समाचार पत्रिका) के सम्पादक हिम्मतसिंह बछानिया आदि। उपस्थित रहे।

शेयर करे

Related Comments

AM
arjunsingh mali (not verified) Thu, 12/28/2017 - 15:03

प्रिय संपादक जी आपसे निवेदन है, आप जो भी खबर प्रकाशित करो उसे पहले अच्छे से पढ़ कर जो शब्द वाक्य सही नही है उन्हें ठीक कर लेवे,,,
और कोई आपको खबर देता है उसकी विश्वसनीयता की पूरी जांच कर प्रकाशित करे,,,

आपका शुभचिंतक अर्जुनसिंह माली रतलाम

LU
LAKSHMAN SINGH UDAY Sun, 12/31/2017 - 08:08

thanks dear

Add a Comment